ARABhojpur

आरा का 50 हजार का इनामी प्रकाश चौधरी मोतिहारी से गिरफ्तार…

आरा : पटना एसटीएफ ने सीरियल हत्याकांड, लूटपाट व रंगदारी के दो दर्जन से अधिक मामलों में वांछित कुख्यात प्रकाश चौधरी को गुर्गे नीरज उर्फ नेपाली के साथ बुधवार की सुबह धर दबोचा। पटना एसटीएफ व भोजपुर जिला पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में यह बड़ी सफलता है। दोनों को मोतिहारी शहर के छतौनी बस स्टैंड स्थित एक होटल से गिरफ्तार किया गया। दोनों पर भोजपुर के अलावा पटना जिले में हत्या, लूटपाट व रंगदारी के करीब दो दर्जन से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस पकड़े गए दोनों कुख्यात अपराधियों से पूछताछ कर गिरोह के अन्य सदस्यों और हथियारों की बरामदगी के प्रयास में लगी है। प्रकाश चौधरी पर राज्य सरकार ने 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। भोजपुर एसपी आदित्य कुमार ने दोनों की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

पटना एसटीएफ व जिला पुलिस को सूचना मिली कि उदवंतगनर थाना के बेलाउर गांव निवासी प्रकाश चौधरी तथा चांदी थाना के लोदीपुर गांव निवासी नीरज उर्फ नेपाली मोतीहारी में किसी वारदात को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं। इसके बाद मोबाइल सर्विलांस से मिले क्लू के आधार पर एसटीएफ व जिला पुलिस की टीम ने सुबह करीब दस बजे मोतिहारी शहर के छतौनी बस स्टैंड स्थित एक होटल के पास छापेमारी कर दोनों को हथियारों के साथ गिरफ्तार कर लिया।

दोनों अपराधियों पर आरा के नवादा , चांदी, उदवंतनगर, संदेश के अलावा पटना जिले के बिहटा व दानापुर में कई केस दर्ज हैं। भोजपुर के पीरो थाना क्षेत्र के जैसीडीह गांव के समीप आठ जून 2018 को पैक्स अध्यक्ष नागेश पांडेय उर्फ छोटुन पांडेय को गोलियों से छलनी करने के मामले में भी कुख्यात प्रकाश चौधरी फरार चल रहा था।

चांदी थाना के लोदीपुर गांव में डॉन रंजित चौधरी का पोस्टर फाड़े जाने के विवाद में एक रिटार्यड फौजी को गोलियों से भून दिया गया था। जिसमें भी नीरज का नाम आया था। यह घटना अक्टूबर 2017 में घटित हुई थी। छठ पूजा के समय घटना को अंजाम दिया गया था। चांदी थाना क्षेत्र के लोदीपुर गांव में छठ पर्व में कुख्यात रंजीत चौधरी के पोस्टर चस्पाया गया था फाड़ने के विवाद में एक रिटायर्ड फौजी पृथ्वी नाथ शर्मा को हथियार बंद अपराधियों ने नौ गोली मारकर हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दिया था। पृथ्वी नाथ शर्मा ने सुर्य मंदिर पर लगे कुख्यात रंजीत चौधरी का पोस्टर हटाने के लिए फाड़ दिया गया था। जिस पर पहले डॉन के शागिर्द ने जान से मारने की धमकी भी दी थी। रात में पृथ्वी नाथ शर्मा दुकान को बंद कर अपने बेटे के साथ घर लौट रहे थे तभी चार अपराधियों ने गोलियां चलाकर हत्या कर दी थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

बिहार की खबरों से रहे अपडेट

Close