ARABhojpur

हीरो का आतंक : आरा से पटना तक चल रही कुख्यात हीरो की तलाश…

आरा : भोजपुर के मोस्ट वांटेड हीरो ने तीन गुर्गों के साथ ईंट-भट्ठा पर फायरिंग की थी। हीरो फायरिंग कर रहा था, जबकि उसके गुर्गे लोगों पर नजर रखे हुए थे। इसके लिए वह अपने गुर्गों के साथ पल्सर व एक अन्य बाइक से पहुंचा था। टाउन थाने में दर्ज प्राथमिकी में इसका उल्लेख किया गया है। ईंट-भट्ठा मालिक के भाई उमेश सिंह के बयान पर इस मामले में प्राथमिकी की गयी है। इसमें कुख्यात हीरो व तीन अज्ञात बदमाशों को आरोपित किया गया है। कहा गया है कि दशमी की रात मोबाइल पर कॉल कर हीरो के नाम पर पांच लाख रुपये की रंगदारी मांगी गयी थी। नहीं देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी गयी थी। इसके बाद रविवार को दहशत फैलाने के लिए ईंट-भट्ठे पर फायरिंग की गयी और मुंशी को गोली मार दी गयी।

घटना को अंजाम देने के बाद सभी बदमाश कोईलवर की ओर भाग गये थे। अब पुलिस हीरो के तीन गुर्गों की पहचान में भी जुटी है। मालूम हो कि रविवार को दिनदहाड़े हीरो व उसके गुर्गों ने टाउन थाना क्षेत्र के इब्राहिमनगर स्थित रमेश सिंह की जेपीएस ईंट-भट्ठे पर जमकर फायरिंग की थी। मुंशी मंतोष कुमार को भी गोली मार दी गयी थी। उन्हें तीन गोलियां लगी थीं और उनका इलाज चल रहा है।

आरा से पटना तक चल रही कुख्यात हीरो की तलाश…

महज एक माह में फायरिंग व हत्या की दो बड़ी घटनाओं को अंजाम देने वाला हीरो पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया है। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है। पुलिस की अलग-अलग टीम छापेमारी में जुटी है। एक टीम का नेतृत्व खुद एसपी आदित्य कुमार कर रह रहे हैं। दूसरी टीम की कमान एसडीपीओ पंकज कुमार संभाल रहे हैं। डीआईयू टीम की भी मदद ली जा रही है। दोनों टीमें रविवार की दोपहर से ही छापेमारी में जुटी हैं। इस दौरान आरा से पटना तक उसकी तलाश की जा रही है। रविवार की रात उसके कोईलवर इलाके के कई ठिकानों पर छापेमारी की गयी। हालांकि अब तक पुलिस हीरो व उसके गुर्गों तक नहीं पहुंच सकी है।

दो माह में ही भोजपुर का टॉप मोस्ट वांटेड बन गया हीरो

-फायरिंग का अंदाज ऐसा कि नाम सुनते ही थर्रा जा रहा पूरा शहर

-25 अगस्त को कोर्ट परिसर से पुलिस को चकमा दे भागा था हीरो

-20 सितंबर को शहर में तीन जगहों व 21 अक्टूबर को भट्ठे पर की गोलियों की बौछार

पुलिस कस्टडी से फरार भोजपुर का बिंदगांवा निवासी मनीष उर्फ हीरो महज दो माह में ही भोजपुर का टॉप मोस्ट वांटेड बन बैठा। आपराधिक वारदातों से उसने भोजपुर पुलिस की नींद हराम कर दी है। उसका अंदाज ऐसा कि नाम सुनते ही पूरा शहर थर्रा जा रहा है। सनद हो कि हीरो 25 अगस्त को कोर्ट परिसर से पुलिस को चकमा देकर भाग गया था। तब पुलिस उसे रिमांड के लिए कोर्ट लायी थी। उसके बाद से ही पुलिस हीरो के पीछे लगी थी।

इस बीच 20 सितंबर को उसने शहर में पांच किलोमीटर के एरिया में घूम-घूमकर फायरिंग की थी। तब उसने दिनदहाड़े महज तीस मिनट में शहर में तीन जगहों पर फायरिंग की थी। इस क्रम में उसने जीरो माइल स्थित भाजपा नेता की ट्रैक्टर एजेंसी में घुसकर दो कर्मियों को गोली मार दी थी। एक कर्मी की मौत हो गयी, जबकि दूसरे का इलाज अब भी चल रहा है। उस घटना से पूरा शहर थर्रा उठा था और हीरो नाम की दहशत फैल गयी थी। इसके बाद पुलिस अभी उसकी गिरफ्तारी में जुटी ही थी कि 21 अक्टूबर को फिर उसी अंदाज में इब्राहिमनगर स्थित ईंट-भट्ठे पर अंधाधुंध फायरिंग करते हुए मुंशी को गोली मार दी। मुंशी का भी इलाज चल रहा है।

नेपाल से दशहरे में लौटने की चर्चा…

चर्चा है कि महिंद्रा ट्रैक्टर एजेंसी पर हत्या के बाद पुलिस जब उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही थी तो वह नेपाल भाग गया था। एक माह के भीतर दशहरे में वह दुबारा भोजपुर आया। उसका लोकेशन पुलिस को मिला और उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की ही जा रही थी कि उसने ईंट-भट्ठा पर गोलियां बरसा दी।

Related Articles

1 thought on “हीरो का आतंक : आरा से पटना तक चल रही कुख्यात हीरो की तलाश…”

  1. अरे भाई ई हीरो का फ़ोटो भी post में डाला करो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

बिहार की खबरों से रहे अपडेट

Close