ARABhojpur

आरा : पटना से अगवा दो सगे भाई आरा से बरामद, अपहर्ता भी धराए…

आरा : पटना से अगवा दो सगे भाइयों अकाश व नीतीश को पुलिस ने सोमवार को छापेमारी कर सकुशल बरामद कर लिया। साथ ही आधा दर्जन संदिग्धों को भी दबोचा गया। हालांकि, मुख्य अपहरणकर्ता अभी भी फरार हैं। पकड़े गए अपहरणकर्ताओं के पास से छह मोबाइल भी जब्त किया गया हैं। दोनों की बरामदगी भोजपुर जिला के आरा मुफस्सिल थाना अन्तर्गत धोबहां ओपी के कड़रा मठ के बगीचा से संभव हो सकी। मठ के बगीचा में दोनों को छिपाकर रखा गया था।

अपहरण के मूल में रुपये के लेन-देन की बात शुरूआती जांच में सामने आ रही है। कांड में संलिप्त अपहरणकर्ताओं की गिरफ्तारी के लिए आरा सदर एसडीपीओ सह एएसपी अम्बरीष राहुल के नेतृत्व में टीम को लगाया गया है। देर शाम भोजपुर के प्रभारी एसपी सुधीर कुमार पोरिका ने भी मुफस्सिल थाना में पहुंचकर बरामद छात्रों एवं पकड़े गए अपहरणकर्ताओं से गहन पूछताछ की। घटना के तार राजधानी पटना से भी जुड़ा है। इसे लेकर पटना में भी छापेमारी हो रही है।

इधर, भोजपुर एसपी पोरिका ने दोनों भाइयों की बरामदगी की पुष्टि करते हुए बताया कि गिरफ्तारी के लिए अभी छापेमारी चल रही है। तीन-चार संदिगधों को उठाया गया है। जानकारी के अनुसार भोजपुर जिला के जगदीशपुर के नयका टोला निवासी रिटायर्ड फौजी हरेन्द्र महतो के दो सगे बेटे नीतीश व अकाश पटना में रहकर प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करते थे। इस दौरान पटना के शास्त्रीनगर इलाके से दोनों भाइयों को अगवा कर भोजपुर लाया गया था। जिसके बाद इसकी सूचना पटना एएसपी को अपहृत के दोस्तों ने दी थी। जिसके बाद टीम को लगाया गया था।

इस दौरान मोबाइल सर्विलांस के जरिए भोजपुर के मुफस्सिल थाना के धोबहां इलाके में छिपाए जाने की जानकारी मिली। इसके बाद भोजपुर एसपी के आदेश पर मुफस्सिल थानाध्यक्ष ज्योति कुमारी ने डीआईयू के साथ धोबहां ओपी के कड़रा मठ के पास छापेमारी कर अपहृत दोनों भाइयों नीतीश व आकाश के साथ अपहरणकर्ताओं को भी रंगे हाथ धर दबोचा। जबकि, एक मुख्य सरगना भाग निकला। कुल छह संदिग्धों को उठाए जाने की बात सामने आ रही है। पकड़े गए संदिग्धों के पास से छह मोबाइल सेट भी बरामद किया गया है। एएसपी अम्बरीष राहुल को मामले की जांच एवं गिरफ्तारी के लिए लगाया गया हैं।

फोन पर किए थे पैसे की डिमांड, कड़रा मठिया के पास बुलाया था…

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पटना से दोनों भाइयों को अगवा किए जाने के बाद फोन पर पैसे की भी डिमांड की गई थी। इसके लिए पैसा लेकर धोबहां ओपी के कड़रा मठ के पास बुलाया गया था। जिसके आधार पर यहां से टीम को लगाया गया था। दोपहर बाद जब टीम वहां पहुंची तो अपहृत दोनों भाईयों को मठ कैंपस स्थित बगीचा में छिपाकर रखा गया था। जिसके बाद मुफस्सिल व डीआईयू टीम ने घेराबंदी कर अपहृत को बरामद कर लिया गया। बाद में सूचना मिलने पर दोनों अपहृत बेटों के पिता हरेन्द्र महतो भी मुफस्सिल थाना पहुंच गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

बिहार की खबरों से रहे अपडेट

Close