Big NewsBreaking NewsMadhubani

किसानों की उपेक्षा कर रही है सरकार: देवेन्द्र

मधुबनी |

केंद्र व राज्य सरकार किसान विरोधी है। किसान को भूखे रख देश व राज्य में सरकारें विकास की बात कर रही है। जबकि सच्चाई यह है कि बिना अन्नदाताओं के विकास के किसी भी राष्ट्र, राज्य या समाज के विकसित होने की कल्पना करना बेमानी है।

आज देश के किसान भूखमरी का सामना कर रहे हैं, आत्महत्या कर रहे हैं लेकिन केंद्र व राज्य सरकार किसानों की कर्जमाफी नहीं कर किसानों के साथ भेदभावपूर्ण रवैया अपना रही है। कॉरपोरेट घरानों का लाखों करोड़ों का कर्ज माफ कर देती है। किसानों का नहीं। कोई कमजोर नहीं समझे। इन्हीं किसानों, बेरोजगार नौजवानों ने राजस्थान, छत्तीसगढ व राजस्थान में धूल चटाया है। उक्त बातें पूर्व केंद्रीय मंत्री सह सपा के प्रदेश अध्यक्ष देवेंद्र प्रसाद यादव ने रविवार को पार्टी कार्यालय में कही। उन्होंने कहा कि अभी खेती के समय में यूरिया खाद की कालाबाजारी हो रही है। सपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सरकार ने ही 30 लाख मैट्रिक टन धान का लक्ष्य रखा है जबकि अभी तक सिर्फ 10,000 मैट्रिक टन धान की ही खरीद हुई है। किसानों से धान खरीदने के लिए अभी तक क्रय केंद्र भी नहीं खोली जा सकी है। वहीं उन्होंने कहा कि राज्य की 80 प्रतिशत आबादी कहीं न कहीं कृषि पर आश्रित है फिर सरकार द्वारा उनकी अनदेखी कहीं न कहीं सरकार को बहुत भारी पड़ने वाली है। किसानों को मालगुजारी बढने से किसानों के सामने अपनी जमीन को बचाने की मुश्किल खड़ी हो गयी है। वहीं खुद के झंझारपुर से चुनाव लड़ने के बारे उन्होंने तो खुद खुलकर नहीं बोला। लेकिन कार्यकर्ताओं में इस बात को लेकर काफी उत्साह दिखा। सपा जिलाध्यक्ष सुरेश चंद्र चौधरी ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष के आह्वान पर सभी सपा कार्यकर्ता जबतक किसानों को उचित सम्मान नहीं मिलता आंदोलन जारी रखेंगे। मौके पर प्रदेश प्रवक्ता आनंद मोहन सिंह, प्रदेश सचिव रामसुदिष्ट यादव, मो.औसाफ लड्डन, मो.अरसलान,जयचंद्र कुमार झा, सुधीर चंद्र चौधरी आदि मौजूद थे ||

NBL Madhubani

"है जो जमीर जालिम उसे बेनकाब कर दे,ये खामोशी तोड़ दे तू इंकलाब कर दे"

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

बिहार की खबरों से रहे अपडेट

Close