Big NewsBreaking NewsMadhubaniPatna

शहर में बढ़ता गया अतिक्रमणकारियों का दबदबा…..

शहर में अतिक्रमणकारियों के बढ़ते दबदबा को कम करने की दिशा में प्रशासन की उदासीनता भारी भूल साबित हो रही हैं..../....

मधुबनी | 

शहर में अतिक्रमणकारियों के बढ़ते दबदबा को कम करने की दिशा में प्रशासन की उदासीनता भारी भूल साबित हो रही हैं। इसका खामियजा आम लोगों को प्रतिदिन भुगतना पड़ रहा हैं। अतिक्रमण से निजात दिलाने की दिशा में संबंधित विभाग के पदाधिकारियों का गाहे-बेगाहे कार्रवाई शहरवासियों को खलने लगा है। शहर में आनन-फानन में सड़क किनारे फूटपाथी दुकानदारों का अतिक्रमण हटाने के दूसरे ही दिन फुटपाथियों द्वारा फिर कब्जा जमा लिया जाता है। अतिक्रमण से मुक्त कराने में प्रशासन लगातार पिछड़ रहा है। अतिक्रमण से अवगत होते हुए भी प्रशासन आम लोगों को होने वाली परेशानी को दूर करने में कारगर साबित नहीं हो रहा है। जिला प्रशासन की उदासीनता के कारण शहर में अतिक्रमणकारियों का मनोबल बढ़ता चला गया। आम लोगों को आवागमन में परेशानी की चिता किसी को नहीं सड़क किनारे लगी बाइक सहित अन्य वाहनों के अलावा व्यापारियों का सामान से लदे ट्रकों का बाजार में बेतरतीब ठहराव से आम लोगों को आवागमन में परेशानी की चिता किसी को नहीं है। शहर का बाटा चौक, गिलेशन बाजार, लोहा बाजार, महिला कॉलेज रोड, शंकर चौक महंथी लाल चौक सभी जगहों पर दुकानदार सड़क पर सुबह होते ही अपनी दुकान सजा देते हैं। शहर के चौक-चौराहों से गुजरने वाली सड़क की चौड़ाई 20 से 25 फीट है। इन सड़कों के दोनों ओर तकरीबन आठ फीट सड़क अतिक्रमित है। शेष लगभग 18 फीट की चौड़ाई वाली सड़क पर करीब आठ फीट में दो और चार पहिए वाहनों का ठहराव होता है। बचे 10 फीट चौड़ाई में पैदल, साइकिल, रिक्शा, बाइक तथा चार पहिए वाहनों की आवाजाही में हो रही समस्या से लोगों को निजात मिलती नजर नहीं आ रही है। शहर के शंकर चौक, महंथी लाल चौक, स्टेशन चौक, गंगासागर चौक, बाबूसाहेब चौक, थाना चौक सहित अन्य चौराहा होकर प्रतिदिन तकरीबन 75 हजार की आबादी गुजरती है। जाम की समस्या को लेकर इस चौक से लोग गुजरने से परहेज करने के मूड में रहते हैं। शहर के मुख्य सड़क को छोड़ अन्य सड़कों की चौड़ाई 20 से 25 फीट है। जिसमें तकरीबन 10 की अतिक्रमित होने के कारण शेष 15 फीट पर वाहनों व पैदल आवाजाही के कारण जाम की समस्या दूर होने का नाम नहीं ले रही है। वेंडरजोन की कमी फुटपाथी विक्रेताओं के लिए शहरी क्षेत्र में अबतक वेंडरजोन नहीं बनाया जा सका है। इस सिलसिले में शहर के फुटपाथी विक्रेताओं के संगठनों द्वारा समय-समय पर आंदोलन कर जिला प्रशासन से वेंडरजोन की मांग किया जाता रहा है। हालांकि इस दिशा में अबतक वेंडरजोन के लिए जमीन चिह्नित नहीं किया जा सका है। नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी आशुतोष आनंद चौधरी ने कहा कि शहरी क्षेत्र में अतिक्रमण की समस्या दूर करने के दिशा में नगर परिषद प्रशासन द्वारा ठोस कार्रवाई शुरू की जाएगी। वेंडर जोन के निर्माण का प्रस्ताव पूर्व में ही विभाग को भेजी गई है ||

NBL Madhubani

"है जो जमीर जालिम उसे बेनकाब कर दे,ये खामोशी तोड़ दे तू इंकलाब कर दे"

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

बिहार की खबरों से रहे अपडेट

Close