Big NewsBreaking NewsMadhubaniPatna

अधिक से अधिक महिलाओं को दें मातृ वंदना योजना का लाभ…..

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (पीएमएमवीवाई) सप्ताह की शुरुआत सोमवार से हुई। इसको लेकर शहर के वाट्सन स्कूल के मैदान से आंगनबाड़ी सेविका द्वारा रैली निकाली गई। जिसे सिविल सर्..../....

मधुबनी | प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (पीएमएमवीवाई) सप्ताह की शुरुआत सोमवार से हुई। इसको लेकर शहर के वाट्सन स्कूल के मैदान से आंगनबाड़ी सेविका द्वारा रैली निकाली गई। जिसे सिविल सर्जन डॉ. मिथिलेश झा ने हरी झंडी दिखा रवाना किया। रैली वाट्सन स्कूल से निकल थाना मोड़ होते हुए सदर अस्पताल परिसर में पहुंची।

इस अवसर पर जिला कार्यक्रम पदाधिकारी आईसीडीएस रश्मि वर्मा ने कहा जिला में 2 से 8 दिसंबर तक जिले में पीएमएमवीवाई सप्ताह मनाया जाएगा। यह अभियान जिले से लेकर ब्लॉक एवं पंचायत स्तर पर सघन रूप से चलाया जाएगा। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का मुख्य उद्देश्य प्रथम बार मां बनने वाली महिलाओं को तीन किस्त के जरिए 5000 रुपये की राशि का लाभ देना है। अभियान के दौरान अधिक महिलाओं को योजना का लाभ देने की कोशिश भी की जाएगी। सप्ताह के दौरान बेहतर प्रदर्शन करने वाले जिला, परियोजना एवं क्षेत्रीय कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय, राज्य, जिला एवं परियोजना स्तर पर पुरस्कृत भी किया जाएगा। दो श्रेणियों में दिए जाएंगे पुरस्कार जिला स्तर पर पुरस्कार का वितरण दो श्रेणियों में होगा। प्रथम श्रेणी में जिला स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले एक परियोजना के बाल विकास परियोजना पदाधिकारी एवं उनके डाटा एंट्री ऑपरेटर को पुरस्कार दिया जाएगा। जबकि दूसरे श्रेणी में प्रत्येक परियोजना से बेहतर प्रदर्शन करने वाले एक आंगनबाड़ी सेविका एवं एक सहायिका को पुरस्कार दिया जाएगा। लंबित आवेदनों एवं भुगतान को शून्य करने पर होगा •ाोर सप्ताह के दौरान लंबित आवेदनों एवं भुगतान को शून्य करने पर विशेष •ाोर दिया जाएगा। इसके लिए दूसरे एवं तीसरे किस्त हेतु योग्य लाभार्थियों से आवेदन प्राप्त कर प्रस्तावित तिथि को परियोजना स्तर पर पूर्णत: निष्पादित किया जाएगा। यह है योजना इस योजना के तहत प्रथम बार मां बनने वाली माताओं को 5000 रुपये की सहायक धनराशि दी जाती है, जो सीधे गर्भवती महिलाओं के खाते में पहुंचती है। इस योजना के तहत दी जाने वाली धनराशि को तीन किस्तों में दिया जाता है। पहली किस्त 1000 रुपये की तब दी जाती है जब गर्भवती महिला अंतिम मासिक चक्र के 150 दिनों के अंदर गर्भावस्था का पंजीकरण कराती हैं। दूसरी किस्त में 2000 रुपये गर्भवती महिला को गर्भावस्था के 6 माह पूरा होने के बाद कम से कम एक प्रसव पूर्व जांच कराने पर दी जाती है। तीसरी और अंतिम किश्त में 2000 रुपये बच्चे के जन्म पंजीकरण के उपरांत एवं प्रथम चक्र का टीकाकरण पूर्ण होने के बाद प्रदान की जाती है। इस दौरान सिविल सर्जन डॉ. मिथिलेश झा, डीपीओ रश्मि वर्मा, एसीएमओ एसपी सिंह, डीआईओ एसएस झा, केयर इंडिया के डीटीओ ऑन पियूष बंसल उपस्थित थे ||

NBL Madhubani

"है जो जमीर जालिम उसे बेनकाब कर दे,ये खामोशी तोड़ दे तू इंकलाब कर दे"

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

बिहार की खबरों से रहे अपडेट

Close