Big NewsBreaking NewsMadhubaniPatna

राम कथा सुनकर राम की कृपा स्वत: प्राप्त हो जाती…..

राम भारत के भाग्य विधाता हैं। इस दुनिया में बहुत सारे काम व्यक्ति अपनी साम‌र्थ्य के अनुसार करता है परंतु रामकथा प्रभु श्रीराम की कृपा से ही प्राप्त होती है...../.....

मधुबनी | राम भारत के भाग्य विधाता हैं। इस दुनिया में बहुत सारे काम व्यक्ति अपनी साम‌र्थ्य के अनुसार करता है परंतु रामकथा प्रभु श्रीराम की कृपा से ही प्राप्त होती है। उक्त बातें उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से आए जानेमाने रामकथावाचक आचार्य सुमनकृष्ण महाराज ने खुटौना बाजार में गरीबनाथ महादेव मंदिर के निकट डॉ. हरिनारायण के आवासीय परिसर में आयोजित नौ दिवसीय रामकथा के शुभारंभ के अवसर पर कही। उन्होंने कहा कि तुलसीदास की तरह जब मनुष्य की लगन लग जाती है तो राम की कृपा उसे स्वत: प्राप्त हो जाती है। जब जन्म-जन्मांतरों के भाग्यकमल प्रस्फुटित होते हैं तब रामकथा श्रवण करने में मनुष्य की रूचि जागृत होती है। आचार्य सुमनकृष्ण महाराज द्वारा प्रस्तुत रामकथा गोस्वामी तुलसीदास रचित रामचरितमानस पर आधारित है। चौपाइयों, दोहों तथा छंदों की संगीतमय प्रस्तुती तथा सहज-सरल शब्दों में इनकी व्याख्या के जरिए कथावाचक ने ऐसा समां बांधा कि श्रोता मंत्रमुग्ध हो रामचरित्ररस सरोवर में अवगाहन करते रहे और झूमते रहे। आगंतुक श्रद्धालु श्रोताओं का स्वागत सेनि अधिकारी राजलाल साह तथा उनके चिकित्सक पुत्र डॉ. हरिनारायण ने किया। कथा आरंभ होने के पूर्व भगवान श्रीराम, भगवती सीता, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न तथा संकटमोचक हनुमानजी समेत देवी देवीदेवताओं की विधि विधानपूर्वक पूजा अर्चना की गई। मंगलाचरण एवं गुरुवंदना से बालकांड का गायन एवं कथावाचन हुआ। रामकथा का यह कार्यक्रम 18 नवम्बर तक अपराह्न 2 बजे से संध्या 6 बजे तक संचालित होने की घोषणा की गई ||

NBL Madhubani

"है जो जमीर जालिम उसे बेनकाब कर दे,ये खामोशी तोड़ दे तू इंकलाब कर दे"

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

बिहार की खबरों से रहे अपडेट

Close