Big NewsBreaking NewsMadhubaniPatna

किसी के गले नहीं उतर रहा निशा का सुसाइड नोट….

मधुबनी | निशा की संदिग्ध मौत के बाद सामने आए सुसाइड नोट से निशा की मौत की गुत्थी सुलझने की बजाय और उलझ गई है। हालांकि,साहरघाट पुलिस सुसाइड नोट के आधार पर मामले को आत्महत्या मान कर ही एफआईआर दर्ज की है। पुलिस इस मामले को आत्महत्या इसलिए मान रही है क्योंकि निशा की मां ने जो सुसाइड नोट पुलिस को दी है,पुलिस बस उसे ही आधार मान रही है। बड़ा सवाल यह है कि जो सुसाइड नोट पुलिस को दी गयी है,उसकी जांच जब तक हैंड राइटिंग एक्सपर्ट से नही कराई जाती,तब तक यह मान लेना कि सुसाइड नोट पर निशा के हैंडराइटिंग हैं,शत-प्रतिशत गलत होगा। सारा खेल सुसाइड नोट की जांच पर ही टिकी है। पुलिस को भले ही सुसाइड नोट की बात बड़ी आसानी से समझ में आ गयी,पर सामने आने के बाद से ही सुसाइड नोट सवालों घेरे में है और किसी
के गले नहीं उतर रहा।

आत्महत्या की घटना के बाद पुलिस मौके का बेहद बारीकी से मुआयना करती है। सबसे पहला फोकस सुसाइड नोट बरामद करने का ही होता है। निशा की मां ने पुलिस को जो सुसाइड नोट सौंपा है, उसकी जांच के बाद ही सच सामने आएगा कि मामला आत्महत्या का है या हत्या का? इसलिए सबसे पहले हैंडराइटिग एक्सपर्ट से निशा की राइटिग का मिलान कराया जाना चाहिए। बिना जांच के इस मामले को आत्महत्या मान लेना कहीं-न-कहीं सवाल तो खड़े करता है और करता रहेगा ||

NBL Madhubani

"है जो जमीर जालिम उसे बेनकाब कर दे,ये खामोशी तोड़ दे तू इंकलाब कर दे"

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

बिहार की खबरों से रहे अपडेट

Close