Big NewsBreaking NewsMadhubaniPatna

बेटियों को आगे बढ़ाएं, जगाएं उनमें आत्मविश्वास….

मधुबनी | बेटे और बेटियों में कोई अंतर नहीं है। बेटियां वह हर काम कर सकती हैं, जो बेटे कर सकते हैं। हर क्षेत्र में बेटियां परचम लहरा रही हैं। ये बातें डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ पर सेमिनार को संबोधित करते हुए कहीं। डीएम ने कहा कि बेटियों को शुरू से ही आगे बढ़ाएं। आत्मविश्वास जगाएं। इसमें माता-पिता की अहम भूमिका होती है। बच्चियों के लिए कई तरह की योजनाएं शुरू की गई हैं। बेहतर काम करने वाली महिलाओं का भी उत्साह वर्द्धन किया जाएगा। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के तहत इस साल 25 लाख रुपये मिले हैं। डीएम ने मधुबनी की महिलाओं को वोकल बताते हुए कहा कि वे कई विधाओं में नाम कर रही हैं। नगर भवन में गुरुवार को सेमिनार हुआ। एसपी डॉ. सत्यप्रकाश ने कहा कि आज बेटियां चांद तक पहुंच गई हैं। हर क्षेत्र में लड़किया टॉप पर हैं। मधुबनी में भी पांच में से तीन अनुमंडलों में महिला ही कमान संभाल रही हैं। वे खुद दो बेटियों के बाप हैं। वैसी मां जो बच्चों को जन्म देकर छोड़ देती हैं, वे समाज के लिए अभिशाप हैं। उन्होंने कहा कि लोग पुरुषवादी मानसिकता से उपर उठें। अतिथियों को बाल विकास परियोजना की ओर से पौधा देकर सम्मानित किया गया। परियोजना की सीनियर कंसलटेंट तूलिका झा ने कहा कि इसका उद्देश्य लिंगानुपात बढ़ाना है। बेटी को शिक्षित करना है। समय-समय पर उत्कृष्ट कार्य करने के लिए सम्मानित करना भी है। डीपीओ आईसीडीएस डॉ. रश्मि वर्मा ने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान जिला से अनुमंडल, प्रखंड और पंचायत स्तर तक चलेगा। वकील रेणु ने बताया कि पुरातन में पुरुषों से उपर नारी थीं, पर अब उनको बचाने के लिए सरकार को आगे आना पड़ रहा है। पॉल स्टार की प्राचार्य भारती झा ने कहा कि महिलाएं घर की धूरी होती हैं। महिलाओं की हर क्षेत्र में धमक है। कार्यक्रम में चाइल्ड एडप्शन सेंटर की बच्चियों को झूला व पालना दिया गया। हेल्दी बेबी शो में बच्चों की मां को फलदार पौधे दिए गये। डॉ. किरण कुमारी झा ने कहा कि यह कार्यक्रम पीएम नरेन्द्र मोदी का सर्वश्रेष्ठ अभियान होगा। कार्यक्रम का संचालन डॉ. बरखा अग्रवाल व रामसेवक ठाकुर ने किया। मौके पर सीएस डॉ. मिथिलेश झा, सदर एसडीओ सुनील कुमार सिंह, डीएसपी कामिनी बाला, सुनीता कुमारी थीं ||

NBL Madhubani

"है जो जमीर जालिम उसे बेनकाब कर दे,ये खामोशी तोड़ दे तू इंकलाब कर दे"

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

बिहार की खबरों से रहे अपडेट

Close