Patna

अब तेजस्वी के इस नए रूप ने नीतीश कुमार की बढ़ाई चिंता …

NBL पटना : नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सदन में सरकार के साथ चर्चा को लेकर लगातार मांग करते रहे. लेकिन सरकार चर्चा करने और जवाब देने को तैयार नहीं हुई. इसपर बिफरे नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश पर जमकर भड़ास निकला. साथ ही अपने भाई तेज प्रताप तलाक प्रकरण पर भी बोलते हुए कहा हमलोगों के मुकदमें में तो जो अगले सुनवाई की तारीख होती है, वो लोगों को पता होता है. लेकिन, आज मुख्यमंत्री के उपर मर्डर केस की सुनवाई चल रही है. उस पर किसी की नज़र नहीं. इस बाबत तेजस्वी ने सरकार के साथ-साथ इशारों-इशारों में मीडिया को भी निशाने पर लिया.

तेजस्वी यादव ने सदन के बाहर मीडिया से मुखतिब होते हुए साफ़ कहा कि सीएम नीतीश पर 2009 का अपराधिक मुकदमा कोर्ट में चल रहा हो और आज लगभग दस साल पूरा होने जा रहा है. इस मामले में मुख्यमंत्री के केस में क्या कार्रवाई हुई, क्या जांच हुई. किसी को आता-पता नहीं है.

मुझे दुःख हो रहा है कि जब प्रदेश के मुख्यमंत्री पर मर्डर का मुकदमा चल रहा है और आज कोर्ट में सुनवाई हो रही है. आज के सुनवाई पर किसी की नज़र नहीं है और किसी को कोई खबर नहीं है और कहि कोई चर्चा नहीं है. लेकिन, दूसरी तरफ मेरे भाई का पर्सनल मैटर का केस में चल रहा हो, जो परिवारिक मामले से जुडी बात हो. वो पूरी तरीके से चरों ओर चर्चा का विषय बना हुआ है. वहीं, दूसरी ओर मुख्यमंत्री के अपराधिक मामले की सुनवाई आज कोर्ट में चल रही है, वो चर्चा का विषय नहीं बना हुआ है. इसको लेकर हम लोगों को दुःख है.

इतना ही नहीं तेजस्वी ने आगे कहा, हमलोगों के मुकदमें में तो जो अगले सुनवाई की तारीख होती है, उसकी भी जानकारी लोगों को होती है. लेकिन बिहार के मुख्यमंत्री पर केस चल रहा है मर्डर का, सुनवाई हो रही है कोर्ट में आज और किसी को खबर तक नहीं है.

वहीं अंत में तेजस्वी यादव ने यह भी कहा कि हम लोग चाहेंगे कि जो क्रिमनल मामले में फंसा हुआ मुख्यमंत्री है. हम लोग उससे उम्मीद नहीं कर सकते है कि क्राइम के मामले वो आकर सदन में बात रखेगा और जवाब दें और सही तरीके कार्रवाई भी करें या अपराधी को जेल भेजने का भी कार्य करेगा. लेकिन, यहां तो सरंक्षण देना ही उनका काम रह गया है.

बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से जुड़े पण्डारक हत्याकांड मामले में आज हाई कोर्ट के न्यायाधीश ए अमानुल्लह ने सुनवाई की. जिसे लेकर नेता प्रतिपक्ष ने आज चर्चा किया. मामले को लेकर पटना हाई कोर्ट में 14 दिसंबर को अगली सुनवाई होगी. बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर 27 साल पहले लगे हत्या के आरोप को रद्द कराने की याचिका पर सुनवाई होनी है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

बिहार की खबरों से रहे अपडेट

Close